Thursday , July 7 2022
Breaking News
Home / BREAKING / एससी छात्रों का जीवन बर्बाद करने वाले पूर्व मंत्री साधु सिंह धर्मसोत के खिलाफ क्या और कब कार्रवाई होगी: चीमा

एससी छात्रों का जीवन बर्बाद करने वाले पूर्व मंत्री साधु सिंह धर्मसोत के खिलाफ क्या और कब कार्रवाई होगी: चीमा

चंडीगढ़,  18 अक्टूबर (गुरनाम सागर) : आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के वरिष्ठ एवं नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह सीमा ने पंजाब सरकार पर आरोप लगाया है कि वह एससी छात्रों के पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप (वजीफा राशि) में करोड़ों रुपये का घोटाला करने वाले पूर्व मंत्री साधु सिंह धर्मसोत को बचाने की जुगत में लगी हुई है। चीमा ने कहा कि चन्नी सरकार के समाज कल्याण मंत्री राज कुमार वेरका द्वारा कुछ अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज करवाने की कार्रवाई केवल लोगों की आंखों में धूल झोंकने का प्रयास है।
पार्टी मुख्यालय से रविवार को जारी बयान में नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने आरोप लगाया कि “कांग्रेस पार्टी की कैप्टन सरकार की तरह चन्नी सरकार भी एससी छात्रों के वजीफे हड़पने वाले पूर्व मंत्री साधू सिंह धर्मसोत का बचाव कर रही है। कांग्रेस पार्टी द्वारा अपनी सरकार के अलीबाबा को तो जरूर बदला गया है लेकिन कांग्रेस सरकार की घोटालेबाजों को बचाने की नीयत और नीति में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है।”

हरपाल सिंह चीमा ने बताया कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के नए मंत्रिमंडल के गठन के बाद नए मंत्री राज कुमार वेरका ने वजीफा घोटाला मामले की तुरंत जांच कर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का वादा किया था। लेकिन अब वह भी सही कार्रवाई करने से न केवल पीछे हट रहे हैं, बल्कि कुछ अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का ड्रामा करके पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के जोड़ीदार साधू सिंह धर्मसोत को कानूनी कार्रवाई से बचाने में लगे हुए हैं।

चीमा ने बताया कि जब साधु सिंह धर्मसोत कैप्टन अमरिंदर सिंह के मंत्रिमंडल में समाज कल्याण विभाग चला रहे थे, उस दौरान पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप के करोड़ों रुपयों रुपये जाली कॉलेजों के बैंक खातों में डालकर एससी छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया गया था। इस कारण करीब 2 लाख से अधिक एससी वर्ग के छात्रों को पढ़ाई से दूर होना पड़ा था। उन्होंने कहा कि उस समय उच्च अधिकारियों ने वजीफा बांटने में हेराफेरी होने की रिपोर्ट तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को सौंपी थी। लेकिन कैप्टन अमरिंदर सिंह ने न तो अपने जोड़ीदार साधू सिंह धर्मसोत के खिलाफ कोई कार्रवाई की और न ही इस मामले के लिए जिम्मेदार उच्चाधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई।

हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि आम आदमी पार्टी लंबे समय से वजीफा घोटाला करने वाले पूर्व मंत्री साधू सिंह धर्मसोत और अन्य अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करती आ रही है और इसके लिए सड़क से विधानसभा तक पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा संघर्ष किया गया था। उन्होंने कहा कि चन्नी सरकार लोक दिखावे के लिए चंद अधिकारियों के खिलाफ तो कार्रवाई कर रही है लेकिन विभाग के मंत्री रहे साधु सिंह धर्मसोत के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने से टालमटोल की जा रही है। चीमा ने चन्नी सरकार से पूछा कि पंजाब के लाखों एससी वर्ग के छात्रों का जीवन बर्बाद करने के जिम्मेदार पूर्व मंत्री साधु सिंह धर्मसोत के खिलाफ क्या और कब कार्रवाई की जाएगी?

About admin

Check Also

प्रकाश सिंह बादल को हुआ ओमीक्रोन, कुछ दिन रहेंगे ICU में

लुधियाना, 24 जनवरी 2022, ओजी इंडियन ब्यूरो- पंजाब के पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल …

Leave a Reply

Your email address will not be published.