Saturday , January 22 2022
Breaking News
Home / BREAKING / राजनीतिज्ञों के टवीटों की लगी झड़ी, एक के बाद एक टवीट, किसानों को मिली वधाई

राजनीतिज्ञों के टवीटों की लगी झड़ी, एक के बाद एक टवीट, किसानों को मिली वधाई

चंडीगड़, ओजी इंडियन ब्यूरो- 19 नवंबर 2021 

प्रधान मंत्री मोदी की तरफ से खेती कानून वापस लेने का ऐलान कर दिया गया है। किसानों की तरफ से अपनी इस बड़ी जीत पर ख़ुशी का इज़हार किया गया है, परन्तु किसानों का कहना है कि आंदोलन ख़त्म करन का फ़ैसला मीटिंग में कुछ बरकरार माँगों को ध्यान में रखते लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि अब तक ऐम.ऐस.पी की माँग बरकरार है।

इस अच्छी ख़बर से हर वर्ग की तरफ से ख़ुशी का इज़हार किया जा रहा है।राजनीति भी सक्रिय हो गई है और राजनेताओं और किसानों के एक के बाद एक टवीट सामने आ रहे हैं।

पंजाब के खेल और शिक्षा मंत्री प्रगट सिंह ने भी टवीट करके किसानों को इस बड़ी जीत पर बधाई दी।उन्होंने किसानों की इस जीत को ऐतिहासिक जीत करार दिया।

कांग्रेसी सांसद मनीष तिवाड़ी ने भी किसानों को बड़ी जीत की बधाई देते किसान मज़दूर एकता ज़िंदाबाद लिखकर टवीट किया।

 

कांग्रेस के अमृतसर से सांसद गुरजीत औजला ने खेती कानून रद्द करने के लिए प्रधान मंत्री नरिन्दर मोदी का धन्यवाद किया।

 

कैप्टन अमरिन्दर ने किया पीऐम्म मोदी का धन्यवाद

पंजाब के पूर्व मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने भी टवीट करके प्रधान मंत्री नरिन्दर मोदी का धन्यवाद किया।उन्होंने दावा किया कि केंद्र सरकार आगे भी किसानों के हित के लिए बड़ा फ़ैसला लेगी। उन्होंने कहा कि गुरू नानक देव जी के पवित्र मौके पर हर पंजाबी की माँगों को मानने और 3 काले कानूनों को रद्द करने के लिए मैं पीऐम्म मोदी का धन्यवाद करता हैं। मुझे यकीन है कि केंद्र सरकार किसानी के विकास के लिए मिल कर काम करती रहेगी।

पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू का भी टवीट आया और उन्होंने एक साल से डटे किसानों की बड़ी जीत करार दिया है।उन्होंने कहा है कि पंजाब में भी किसानों की भलाई के लिए बड़े कदम उठाए जाने चाहिएं।

पंजाब कांग्रेस के इंचार्ज हरीश चौधरी ने भी टवीट किया जिस में उन्होंने लिखा कि किसान जीते और अहंकार हारा।

पूर्व मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने खेती कानून रद्द होने को किसानों की जीत ही करार नहीं दिया बल्कि उन्होंने कहा पंजाब की तरक्की का रास्ता भी खुल गया है।

किसान नेता राकेश टिकैत का भी टवीट आया, उन्होंने कहा कि आंदोलन उस दिन ही ख़त्म होगा जब संसद में इन खेती कानूनों को रद्द किया जायेगा। उन्होंने लिखा कि ऐम.ऐस.पी साथ-साथ दूसरे मुद्दों पर भी चर्चा अभी बाकी है।

अरविन्द केजरीवाल का टवीट

दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल ने भी किसानों को बधाई दी और आंदोलन दौरान शहीद हुए 700 से ज़्यादा किसानों को श्रद्धाँजलि दी और कहा कि आज प्रकाश पर्व वाले दिन कितनी बड़ी अच्छी ख़बर मिली है। 700 से अधिक किसान शहीद हो गए। उन की शहादत अमर रहेगी। आने वाली पीढ़ीयें याद रखेंगी कि कैसे इस देश के किसानों ने खेती और किसानी को बचाने के लिए अपनी, जानें वार दीं। मैं अपने देश के किसानों को सलाम करता हैं।

 

कांग्रेस के पूर्व प्रधान राहुल गांधी ने किसानों को जीत की मुबारकबाद देते कहा कि किसानों के सत्याग्रह आगे अहंकार हार गया।

पंजाब विधान सभा में अपनी स्थापना बनाने के लिए भाजपा की तरफ से हर हथकंडा अपनाया जा रहा है। जिसके चलते खेती कानून रद्द करन का ऐलान किया गया है। करतारपुर साहब का रास्ता खोला जाना भी उन में से एक है। संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से ऐलान किस तरफ गया है कि लिखित भरोके बाद ही आंदोलन ख़त्म किया जायेगा। प्रधान मंत्री नरिन्दर मोदी ने शुक्रवार को देश को संबोधित करते हुए तीनों ही खेती कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया। प्रधान मंत्री ने किसानों और देशवासियें से मुआफी भी मांगी और कहा कि शायद हमारी तपस्या में ही कोई कमी रही होगी कि हम किसानों समझा नहीं सके।

खेती कानून रद्द होने को ले कर सुखजिन्दर रंधावा का टवीट

सुखजिन्दर रंधावा ने ट्वीट क्र कहा है कि श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व मौकेंद्र सरकार की तरफ से काले कानून रद्द करने के फ़ैसले का स्वागत करते हैं। यह जीत हमारे संघरश कर रहे किसानों की जीत है। मैं अपने शहीद किसानों को भी कोटी -कोटी प्रणाम करता हूँ,जिन की वजह से आज पंजाब को जीत प्राप्त हुई।

About admin

Check Also

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव: भाजपा ने 59 उम्मीदवारों की सूची की जारी, सीएम पुष्कर सिंह धामी खटीमा से लड़ेंगे चुनाव

देहरादून, 20 जनवरी 2022,  (ओजी इंडियन ब्यूरो)- भारतीय जनता पार्टी ने उत्तराखंड चुनाव के लिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *