Sunday , January 16 2022
Breaking News
Home / BREAKING / कंगना रनौत को दिल्ली असेंबली के पैनल का समन, सिख समाज पर की थी टिप्पणी, किसानों के प्रदर्शन को बताया था खालिस्तानी आंदोलन

कंगना रनौत को दिल्ली असेंबली के पैनल का समन, सिख समाज पर की थी टिप्पणी, किसानों के प्रदर्शन को बताया था खालिस्तानी आंदोलन

नई दिल्ली,  ओजी इंडियन ब्यूरो- 25 नवंबर 2021

अभिनेत्री कंगना रणौत को दिल्ली विधानसभा की शांति और सद्भाव समिति द्वारा समन किया गया है। कंगना को 6 दिसंबर को दोपहर 12:00 बजे समिति के सामने पेश होने के लिए कहा गया है। सिख समाज पर की गई अप्रिय और अपमानजनक टिप्पणी को लेकर यह समन जारी किया गया है. गौरतलब है कि दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने इंस्टाग्राम पर सिख समुदाय के खिलाफ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करायी है.

मोदी सरकार के कृषि कानूनों को वापस लेने के एलान के बाद कंगना ने किसान आंदोलन की तुलना खालिस्तानी आंदोलन से की थी। समिति का कहना है कि सोशल मीडिया पर हाल में किए गए अपने पोस्ट में रनौत ने ‘‘जानबूझकर” किसानों के प्रदर्शन को ‘खालिस्तानी आंदोलन’ बताया है. बयान में कहा गया है कि अभिनेत्री ने सिख समुदाय के खिलाफ ‘‘आपत्तिजनक और अपमानजनक” भाषा का उपयोग किया.दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति केबयान के अनुसार सिख समुदाय की भावनाओं को आहत करने के लिए जानबूझकर वह पोस्ट तैयार किया गया और आपराधिक मंशा से उसे साझा किया गया. जिसके बाद देश के अलग अलग इलाकों में उनके खिलाफ कई एफआईआर दर्ज की गई हैं।

देश के आजादी को लेकर अपने बयान के कारण विवादों में आईं कंगना पर राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी के खिलाफ भी आपत्तिजनक टिप्‍पणी करने का आरोप लग चुका है. कंगना ने दावा किया था कि सुभाषचंद्र बोस और भगत सिंह को महात्‍मा गांधी से समर्थन नहीं मिला. यहीं नहीं, कंगना ने बापू के ‘अहिंसा के मंत्र’ का भी मजाक बनाते हुए कहा कि एक और गाल आगे करने से आपको ‘भीख’ मिलती है आजादी नहीं.

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने इंस्टाग्राम पर सिख समुदाय के खिलाफ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर कंगना के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। गौरतलब है कि शांति और सद्भाव समिति के अध्यक्ष आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा हैं।

ट्विटर अकाउंट सस्पेंड होने के बाद कंगना इंस्टाग्राम पर सक्रिय हैं और हर चीज पर अपने विचार साझा करती रहती हैं। तीनों कृषि कानून वापस लेने के सरकार के फैसले से कंगना निराश हैं। कंगना ने इंस्टाग्राम पर स्टोरी साझा करते हुए लिखा था, ‘दुखद, शर्मनाक और सरासर गलत… अगर संसद में बैठी सरकार के बजाय गलियों में बैठे लोग कानून बनाना शुरू कर दें तो यह भी एक जिहादी देश है… उन सभी को बधाई जो ऐसा चाहते हैं।’

About admin

Check Also

कोरोना: 24 घंटे में के 2.68 लाख नए केस, 402 मौतें, संक्रमण दर में दो प्रतिशत का इजाफा

नई दिल्ली, 15 जनवरी 2022, (ओजी इंडियन ब्यूरो)-  भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *