Wednesday , July 6 2022
Breaking News
Home / BREAKING / श्री गुरू तेग़ बहादुर साहिब जी के 346वें शहीदी दिवस पर मुख्यमंत्री चन्नी द्वारा श्री आनंदपुर साहिब में 20 करोड़ रुपए के विकास प्रोजेक्टों की शुरूआत

श्री गुरू तेग़ बहादुर साहिब जी के 346वें शहीदी दिवस पर मुख्यमंत्री चन्नी द्वारा श्री आनंदपुर साहिब में 20 करोड़ रुपए के विकास प्रोजेक्टों की शुरूआत

श्री आनंदपुर साहिब, 8 दिसंबर 2021, (ओजी इंडियन ब्यूरो)-

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने आज नौवें सिख गुरू श्री गुरु तेग़ बहादुर जी के 346वें शहीदी दिवस को समर्पित 20 करोड़ रुपए की लागत वाले विकास प्रोजेक्टों का नींव पत्थर रखा।

गुरुद्वारा श्री सीस गंज साहिब में हिंद दी चादर श्री गुरु तेग़ बहादुर जी को नतमस्तक होने के उपरांत विरासत-ए-खालसा के आडीटोरियम में एक सार्वजनिक रैली को संबोधन करते हुये मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि गुरू जी की धार्मिक सहनशीलता, धर्मनिरपेक्षता और धार्मिक आज़ादी की महान विरासत है जो समानता वाले समाज में शांति और सदभावना के साथ रहने के लिए सदा के लिए मानवता का मार्गदर्शन करती रहेगी। उन्होंने कहा कि आज का दिन श्री गुरु तेग़ बहादुर जी की महान शिक्षाओं के मार्ग पर चलने का आत्म निरीक्षण करने का है जिससे सार्वभौमिक प्यार, सदभावना और भाईचारे के संदेश का प्रसार दुनिया के कोने-कोने में पहुँचाया जा सके। मुख्यमंत्री चन्नी ने आगे कहा कि भारतीय संविधान के निर्माता डा.बी.आर.अम्बेदकर, पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के अलावा संविधान सभा के सदस्यों ने गुरू साहिब जी के लामिसाल बलिदान से प्रेरणा लेकर धर्मनिरपेक्षता के सिद्धांतों पर संविधान की नींव रखी जिन्होंने दूसरे धर्मों के लोगों ख़ास कर हिंदुओं को बिना किसी अधीनता और जबर के सभी धर्मों ख़ास तौर पर हिंदुओं को अपने धर्म का पालन करने के योग्य बनाने के लिए अपना जीवन न्यौछावर कर दिया था। ज़िक्रयोग्य है कि उस समय के मुग़ल शासन की तरफ से इस्लाम में परिवर्तन करवाने के लिए हिंदुओं को दमन का शिकार बनाया गया था। हिंदु धर्म की रक्षा के लिए गुरू जी की अद्वितीय बलिदान को इतिहास में हमेशा याद रखा जायेगा।

दसवें सिख गुरू श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी के सच्चे श्रद्धालु बाबा जीवन सिंह जी (भाई जैता जी) को श्रद्धांजलि भेंट करते हुये मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि भाई जैता जी के श्रद्धालु सिख के तौर पर डाले गए महान योगदान को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। भाई जैता जी, श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी के सबसे प्रिय सेवक थे, जिन्होंने समकालीन मुग़ल साम्राज्य के ज़ुल्मों के बावजूद सभी बाधाओं का सामना करते हुए श्री गुरु तेग़ बहादुर जी का शीश चाँदनी चौक, दिल्ली से श्री आनंदपुर साहिब लाया था। बाद में भाई जीवन सिंह जी ने भी मुगलों के साथ लड़ते हुए अपनी जान कुर्बान कर दी। भाई जैता जी के आत्म -बलिदान और समर्पण के जज़बे की सराहना करते हुये मुख्यमंत्री चन्नी ने महान सिख शहीद भाई जैता जी के जन्म दिवस पर हरेक साल गज़टिड छुट्टी का ऐलान किया।

इस मौके पर मुख्यमंत्री चन्नी ने चार प्रोजेक्टों का डिजिटल तौर पर नींव पत्थर रखा जिनमें 1.5 करोड़ रुपए की लागत से श्री गुरु तेग़ बहादुर अजायब घर के आधुनिकीकरण और अपग्रेड करने, 10 करोड़ रुपए की लागत से 62 एकड़ के क्षेत्रफल में श्री गुरु तेग़ बहादुर जी के नाम पर नेचर पार्क को विकसित किया जायेगा और इस पार्क में वह वृक्ष लगाऐ जाएंगे जिनका श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की पवित्र वाणी में जिक्र मिलता है, 4.16 करोड़ रुपए की लागत के साथ एक मेगावाट के सामर्थ्य वाला सोलर प्रोजैक्ट और 2.63 करोड़ रुपए की लागत के साथ भाई जैता जी यादगार के दूसरे पड़ाव का प्रोजैक्ट शामिल है।

पंजाब विधान सभा के स्पीकर राणा केपी सिंह जो श्री आनंदपुर साहिब विधान सभा हलके की नुमायंदगी भी करते हैं, की अपील को स्वीकार करते हुए मुख्यमंत्री चन्नी ने स्थानीय स्तर पर सामाजिक समागम करने के लिए स्थानीय निवासियों की सुविधा के लिए कम्युनिटी सैंटर के लिए 5करोड़ रुपए और नगर कौंसिल के अंदर फायर ब्रिगेड स्टेशन स्थापित करने का ऐलान किया। कम्युनिटी सेंटरों की महत्ता को समझते हुए मुख्यमंत्री चन्नी ने यह भी ऐलान किया कि राज्य भर के हरेक ब्लाक में केंद्र भी खोले जाएंगे जिससे लोग सामाजिक समारोह करने के योग्य हो सकें।

इस इलाके में सामाजिक -आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए लोगों की काफी देर की माँग को पूरा करते हुये मुख्यमंत्री चन्नी ने स्पीकर को भरोसा दिलाया कि सवां नदी पर पुल के निर्माण के लिए तुरंत वित्तीय और प्रशासनिक मंजूरी देने के लिये पहले ही वित्त मंत्री को कह चुके हैं। इसके साथ नंगल -श्री आनंदपुर साहिब क्षेत्र को दोआबा के साथ जोड़ा जायेगा जिससे दोनों क्षेत्रों बीच की दूरी घटेगी, इस तरह उनके समय, पैसे और ऊर्जा की बचत होगी। उन्होंने स्पीकर को अगले हफ़्ते इसका नींव पत्थर रखने की तारीख़ तय करने के लिए भी कहा।

इससे पहले अपने विचार पेश करते हुये विधान सभा के स्पीकर राणा केपी सिंह ने कहा कि यह बड़े मान और तसल्ली की बात है कि कांग्रेस पार्टी की तरफ से मुख्यमंत्री चन्नी अकेले ऐसे मुख्यमंत्री हैं जो आज के इस पवित्र दिवस पर श्री गुरु तेग़ बहादुर साहिब जी को श्रद्धांजलि भेंट करने के लिए आए हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया के इतिहास में श्री गुरू तेग़ बहादुर जी के इलावा कोई भी ऐसी हस्ती नहीं मिलती जिसने किसी अन्य धर्म की रक्षा की ख़ातिर अपना जीवन कुर्बान कर दिया हो।

अपने संबोधन में पंजाब विधान सभा के डिप्टी स्पीकर अजायब सिंह भट्टी ने भी लोगों को सिखों के नौवें गुरू श्री गुरु तेग़ बहादुर जी की विचारधारा पर चलने की प्रेरणा दी, जिसके लिए उन्होंने मानवता को प्यार और भाईचारे का संदेश दिया था।

इससे पहले पर्यटन और सांस्कृतिक मामले विभाग की तरफ से करवाए समागम के दौरान श्री अखंड पाठ साहिब के भोग डाले गए जिस दौरान मुख्यमंत्री चन्नी ने वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल के साथ माथा टेका। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने संत समाज की अलग-अलग शख़्सियतों का सिरोपा भेंट करके सम्मान किया। मुख्यमंत्री चन्नी ने भाई जैता जी के तपोस्थान पर जाकर श्रद्धा और सम्मान भेंट किया।

About admin

Check Also

प्रकाश सिंह बादल को हुआ ओमीक्रोन, कुछ दिन रहेंगे ICU में

लुधियाना, 24 जनवरी 2022, ओजी इंडियन ब्यूरो- पंजाब के पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल …

Leave a Reply

Your email address will not be published.