Sunday , January 16 2022
Breaking News
Home / BREAKING / एडीजीपी एएस राय ने ‘साडा पंजाब’ पुस्तक के मशहूर लेखक मुनीश जिंदल के कोचिंग संस्थान का किया उद्घाटन

एडीजीपी एएस राय ने ‘साडा पंजाब’ पुस्तक के मशहूर लेखक मुनीश जिंदल के कोचिंग संस्थान का किया उद्घाटन

चंडीगढ़/एसएएस नगर, 19 दिसंबर 2021, (ओजी इंडियन ब्यूरो)-

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) इंटेलिजेंस अमरदीप सिंह राय ने रविवार को मोहाली में सिविल सेवा की तैयारी के लिए साडा पंजाब कोचिंग इंस्टीट्यूशन के नए कैंपस का उद्घाटन किया।

इस कैंपस की स्थापना पंजाब के बारे व्यापक सामान्य ज्ञान पर आधारित लिखी गई पुस्तकों ‘साडा पंजाब’ और ‘द पंजाब रिविऊ’ के प्रसिद्ध लेखक मुनीश जिंदल द्वारा की गई है ताकि भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), पंजाब सिविल सेवा (पीसीएस) और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी की जा सके।

एडीजीपी राय ने औपचारिक रूप से संस्था का ब्रोशर का लॉंच करते हुए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की आवश्यकता पर जोर दिया और कहा कि केवल गुणवत्तापूर्ण शिक्षा ही छात्रों को अपने संबंधित क्षेत्रों में उत्कृष्टता प्रदान कर सकती है।

उन्होंने कहा कि आजकल विभिन्न स्तरों पर प्रतियोगी परीक्षाएं कठिन होती जा रही हैं और इच्छुक छात्रों को रणनीतिक रूप से तैयारी करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पहले सिविल सेवा करने के इच्छुक छात्रों को अपनी तैयारी के लिए दूसरे राज्यों में जाना पड़ता था लेकिन इस संस्थान के खुलने से छात्रों को अब किसी अन्य राज्य में जाने की जरूरत नहीं है।

इस अवसर पर एडीजीपी राय ने डिप्टी डायरैक्टर प्रशासन पीजीआई कुमार गौरव धवन के साथ सिविल सेवा में पहले ही चयनित हो चुके छात्रों का सम्मान किया.

लेखक मुनीश जिंदल ने कहा कि इस संस्था को शुरू करने का उनका उद्देश्य इच्छुक छात्रों का मार्गदर्शन करने का है जिससे वे जान सके कि उन्हें क्या पढ़ना है या क्या नहीं पढ़ना है। उन्होंने कहा, ‘इस प्रतियोगी परीक्षा को पास करना मुश्किल नहीं है, इसके लिए सिर्फ एक रणनीति की जरूरत है और कोई भी इस परीक्षा को सिर्फ एक साल की उचित तैयारी से पास कर सकता है।’ उन्होंने कहा कि अखबार का विश्लेषण करना और संक्षिप्त अध्ययन/पठन सामग्री एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

जिंदल ने कहा, ‘मेरा उद्देश्य इच्छुक छात्रों की क्षमता का उपयोग करना है ताकि वे सक्रिय रूप से प्रतिस्पर्धी दुनिया की चुनौतियों का सामना करने के लिए बेहतर तरीके से संपन्न हो सकें।’

उन्होंने कहा कि सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी व्यक्ति को सक्षम और परिपूर्ण बनाती है, अगर किसी का चयन सिविल सेवा की परीक्षा में नही भी  होता तो वह किसी भी अन्य क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर सकता है।

About admin

Check Also

कोरोना: 24 घंटे में के 2.68 लाख नए केस, 402 मौतें, संक्रमण दर में दो प्रतिशत का इजाफा

नई दिल्ली, 15 जनवरी 2022, (ओजी इंडियन ब्यूरो)-  भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *