Wednesday , January 19 2022
Breaking News
Home / BREAKING / भगवंत मान और सिद्धू के बीच टविट्टर वॉर, बहस को लेकर पंजाब में सियासत

भगवंत मान और सिद्धू के बीच टविट्टर वॉर, बहस को लेकर पंजाब में सियासत

चंडीगढ़, 20 दिसंबर 2021, (ओजी इंडियन ब्यूरो)-

2022 की मतदान को ले कर सभी राजनैतिक पार्टियाँ सक्रिय हो रही हैं और एक दूसरे की टांग -बाह खींचने पर लगीं हुई हैं। सभी पार्टियाँ अपने -अपने वायदे गिना रही हैं और लोगों को लुभा रही हैं। नवजोत सिंह सिद्धू की तरफ से भगवंत मान के साथ डिबेट करने से मना करने पर भगवंत मान ने सिद्धू को घेरा है और एक टवीट करके कहा है कि सिद्धू साहब ! आप मेरे से डर कर भाग क्यों रहे हो। भगवंत मान का कहना है कि मुख्य मंत्री चन्नी के हलके में रेत की नाजायज माइनिंग पर सिद्धू क्यों नहीं बोल रहे |

ज़िक्रयोग्य है कि अरविन्द केजरीवाल ने पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू की तरफ से आम आदमी पार्टी को दी गई बहस की चुनौती को स्वीकार करते सिद्धू को बहस के लिए स्थान और समय तय करने के लिए कहा था |केजरीवाल ने बहस के लिए पार्टी के सूबा प्रधान भगवंत मान का नाम तय किया है। वहाँ ही सिद्धू ने भगवंत मान के साथ बहस करने से इन्कार किया है और कहा है कि केजरीवाल उन के साथ बहस करे। जिस पर भगवंत मान ने टवीट किया है।

बीते दिनों नवजोत सिद्धू ने अरविन्द केजरीवाल की तरफ से पंजाब आ कर वायदे करन को ले कर उन को बहस की चुनौती दी थी जिस के बाद अरविन्द केजरीवाल ने भी सिद्धू की बहस की चुनौती को कबूल कर लिया था और उन्होंने कहा कि था भगवंत मान नवजोत सिद्धू के साथ बहस करेंगे। इस से अब दोनों पार्टियों में टविट्टर वार छिड़ गई है।

दरअसल सिद्धू ने टवीट कर कर लिखा था कि अरविन्द केजरीवाल, भगवंत मान मुख्य मंत्री नहीं है जो बादलों के दाग़ी विधायक दीप मल्होत्रा के साथ मिल कर शराब माफिया चला रहा है, न ही दिल्ली में काले खेती कानून उस की तरफ से नोटीफायी किये गए हैं।  दिल्ली हवाई अड्डे की ओर जाते लाभपरक सड़की मार्ग पर बादलें की बसें चलने की इजाज़त कौन के रहा है? आओ श्रीमान पाखंडी जी मेरे साथ बहस करो।

जिस के बाद भगवंत मान भी नवजोत सिद्धू के टवीट का जवाब देने से  पीछे नहीं रहे। भगवंत मान ने भी के साथ ही नवजोत सिद्धू के टवीट का जवाब दे दिया और लिखा कि”मेरे साथ बहस से क्यों भाग रहे हैं सिद्धू भाजी, आप मेरे से क्यों डरते हो? CM चन्नी के हलके में रेत की नाजायज माइनिंग पर क्यों नहीं बोल रहे सिद्धू? वह कौन सी मजबूरियाँ हैं जिनके कारण चमकौर साहब में ग़ैर -कानूनी माइनिंग पर एक शब्द भी नहीं बोला?”

About admin

Check Also

चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरांत 40.31 करोड़ की वस्तुएँ ज़ब्त

चंडीगढ़, 15 जनवरी 2022,  (ओजी इंडियन ब्यूरो)- पंजाब राज्य में विधानसभा चुनाव के ऐलान होने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *