Wednesday , January 19 2022
Breaking News
Home / BREAKING / मजीठिया के ख़िलाफ़ हुए पर्चे पर हरसिमरत बादल का बड़ा बयान

मजीठिया के ख़िलाफ़ हुए पर्चे पर हरसिमरत बादल का बड़ा बयान

जालंधर, 24 दिसंबर 2021,(ओजी इंडियन ब्यूरो)-

पंजाब की कांग्रेस सरकार के शासन दौरान हाल ही में शिरोमणी अकाली दल के सीनियर नेता और केंद्र की मोदी सरकार में मंत्री रहे हरसिमरत कौर बादल के भाई बिक्रम सिंह मजीठिया पर पुलिस ने ड्रग्गस के एक पुराने मामले में पर्चा दर्ज किया है। इस को अकाली दल झूठा पर्चा करार दे कर सड़को पर उतरने तक की चेतावनी दे रहा है। इस पर्चे के पीछे के कारणों, बेअदबी की घटनाएँ और कानून -व्यवस्था आदि के मामलों पर ‘हरसिमरत कौर बादल ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इन से और उम्मीद भी क्या की जा सकती थी। जिस सरकार ने पूरे कानून -व्यवस्था की धज्जियाँ उड़ा दीं।, जब चयन विवरण लगने में 5-7 दिन रह गए हैं तब रातों -रात यह FIR सरकार ने दर्ज करवाई है।

बीबी बादल ने कहा कि यह जो केस दर्ज किया गया है, यह केस 3 साल से बंद था, उस में अफसरों को बदल कर बिल्कुल ग़ैर -कानूनी तरीके से रातों -रात 12 बजे यह केस बनाया है, जो DGP को 5 दिन के लिए लगाया है, उस की पहले भी हमारे साथ निजी रंजिश रही है। पहले भी उस ने हमारे ख़िलाफ़ केस किये। जिस को DGP लगा ही नहीं सकते, उसे सिर्फ़ यह केस दर्ज करन के लिए 5 दिनों के लिए DGP लगाया।  कानून की पुरी धज्जियाँ उड़ाई गयी हैं। निजी रंजिश के इस केस का जवाब भगवान देगा, जो सत्य के साथ ठहरता है। जिस ख़िलाफ़ हम कानूनी तौर पर लड़ाई लड़ेंगे और सच्चाई के दम पर जीतेंगे।

बेअदबी की घटनाएँ भी हाल ही में हुई हैं, लुधियाना में ब्लास्ट हुआ है। जैसे हालात पंजाब के बन रहे हैं, बीबी बादल ने कहा कि जब से हमारे किसान दिल्ली से मोर्चा जीत कर आए हैं, तब से यह सभी ताकतों इकट्ठी हो गई हैं। जो हमारे धर्म के साथ किया जा रहा है, वह जग -ज़ाहर है।

पंजाब के हालात को मतदान के मद्देनज़र ऐसा बनाया जा रहा है। पंजाब सरकार के नाक नीचे ऐसे पवित्र स्थान पर बेअदबी की घटना हुई, जिस में सांझेदारी की बात की जाती है। मस्सा रंगड़ और इंद्रा गांधी के बाद अब यह तीसरा बंदा श्री दरबार साहब में हमला करने के लिए आया, जिस के पास कोई शिनाख़्त तक नहीं। आम आदमी इतनी बड़ी छलांग मार कर अंदर जा ही नहीं सकता।

बीबी बादल ने कहा कि अमन -शान्ति को भंग करने और सिक्ख पंथ को कमज़ोर करने की यह एक बेहद सोची -समझी साजिश है। कांग्रेस का इस में हाथ है, इनका तो यह पुराना इतिहास है। धार्मिक स्थानों पर हमले करना इनके लिए कोई नयी बात नहीं है। मतदान मौके ध्यान भटकाने के लिए नशे के मामले ’में, बेअदबी के मामलो में रंजिशें निकालना। कांग्रेस सरकार चाहती है कि बेअदबी कर के मुद्दा बनाओ, जिससे लोग भूल जाएँ कि घर -घर नौकरी मिलनी थी, कर्ज़ मुआफ होना था। बीबी बादल ने कहा कि मैं इन लोगों को पूछना चाहती हूँ कि सब से बड़ी बेअदबी तो वह थी, जब गुटका साहब हाथ में ले कर दसम पिता की सरजमीं पर दमदमा साहब की तरफ मुँह कर के कसम खायी गई, वह बेअदबी तो लोगों ने आंखों देखी थी। सभी कांग्रेसी तब आसपास जयकारे छोड़ रहे थे। कहते हैं कि जो कत्ल करता है और जो चश्मदीद साथ देता है, वह भी अपराध में भागीदार होता है। ऐसे में इतनी बड़ी बेअदबी देख कर लोग कांग्रेस को मुआफ करने वाले नहीं हैं।

About admin

Check Also

चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरांत 40.31 करोड़ की वस्तुएँ ज़ब्त

चंडीगढ़, 15 जनवरी 2022,  (ओजी इंडियन ब्यूरो)- पंजाब राज्य में विधानसभा चुनाव के ऐलान होने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *